ऐतिहासिक परिप्रेक्ष्य में श्री भद्दिलपुर तीर्थ का महत्व
जैन धर्म में केवलज्ञान (सम्पूर्ण ज्ञान) को प्राप्त कर जैन सिद्धांतों को प्ररूपित करने, अनंत जन्म व मृत्यु के भवसागर से तरने का मार्ग बतलाने वाले एवं तीर्थ की स्थापना करने वाले महामानवों को तीर्थंकर कहा जाता है। जैन परम्परा में 24 तीर्थंकर हुये हैंतीर्थंकर के च्यवन (गर्भ अवतरण), जन्म, दीक्षा, केवलज्…
no
भगवान ऋषभदेव जी-3 कल्याणक, भगवान श्री अजितनाथ जी-4 कल्याणक, भगवान श्री अभिनन्दन स्वामी जी-4 कल्याणक, भगवान श्री सुमतिनाथ जी-4 कल्याणक, भगवान श्री अनंतनाथ जी-4 कल्याणक में पूजा-पाठ किया। हनुमानगढ़ी, रामजन्मभूमि के भी दर्शन किये। शाम को पांच बजे गोंडा की बस पकड़ी6:30 बजे गोंडा से बलरामपुर के लिए बस …
उत्तर प्रदेश के कल्याणक तीर्थो की यात्रा
11 जुलाई, 1993 की रात 9:30 बजे की गाड़ी से रवाना होकर 12 जुलाई की सुबह इलाहाबाद पहुंचा। स्टेशन से सीधा पुरिमताल तीर्थ बाई का बाग, जहां भगवान ऋषभदेव जी का एक कल्याणक-केवलज्ञान है, पहुंचा। स्नान वगैरह से निवृत्त होकर पूजा-पाठ कियाठहरने व स्नान आदि की तीर्थ में अच्छी व्यवस्था की जरुरत है। शाम को सात ब…
श्री जैन श्वेताम्बर कल्याणक तीर्थ न्यास
श्री भद्दिलपुर जैन श्वेताम्बर तीर्थ 'हरखमणि भवन' गाँव-भोंदल, हन्टरगंज (चतरा) झारखण्ड रत्न स्तंभ श्री सरदारमलजी, सूरजबाई जैन की स्मृति में पुत्र/पुत्रवधू दौलत-गुलाब, राजेश-भाग्यश्री, महेश-संगीता, पौत्रः स्पर्श, तनुष, हार्दिक जैन (जे.जी.ग्रुप)श्री गौतमचन्द जी दिपेश जी बेताला, मुंबई/चैन्नईश…
<no title>
दिल्ली के लिए ‘मास्टर प्लान 2021?                                          ( पुनरावलोकन, फरवरी-2007 का सम्पादकीय) दिल्ली 'मास्टर प्लान 2021'  आने से पहले और आने के बाद काफी चर्चित रहा। आने से पहले और आने के बाद काफी चर्चित रहा। आने से पहले जितनी आशा व…
Image
<no title>
हम भारतीय हैं, बस... राजस्थान के चितौड़ के महाराणा प्रताप हों,मराठा के शिवाजी महाराज हों या सिख गुरु सबने अत्याचारी विदेशी आक्रांता मुगल शासकों के विरुद्ध जंग लड़ी। मुगल शासक इतने क्रूर हो गये कि बलात धर्म परिवर्तन कराना, धर्म स्थलों व ग्रंथों को नष्ट करना, हिन्द और…
Image